सराही गई आनलाइन कला प्रदर्शनी

एक्सपोजिशन वर्चुअल को चार हजार कलाप्रेमियों ने देखा


कोरोना संकट में सामूहिक सहभागिता के नए विकल्प तलाश रहे कलाजगत को पिछले दिनों आयोजित एक्सपोजिशन वर्चुअल आनलाइन कला प्रदर्शनी के जरिए काफी सराहना मिली है। अवध आर्ट फेस्टिवल ने इसका आयोजन खानम आर्ट्स, बंगाल आर्ट फाउंडेशन, जयपुर आर्ट समिट, लायंस क्लब, अवध जिमखाना क्लब के सहयोग और समन्वय से किया था जिसमें 50 कलाकारों और छायाकारों की कलाकृतियां प्रदर्शित की गई। एक जून से दस दिनों तक चली इस प्रदर्शनी को चार हजार से अधिक कलाप्रेमियों ने देखा और सराहा। निर्णायक समिति ने 22 कलाकारों को भविष्य के आयोजनों और प्रोत्साहन के लिए चयनित किया है। 
प्रसिद्ध कलाविद आर.बी.गौतम, छायाकार महेश स्वामी और सबिमलेन्दु विकास सिन्हा की निर्णायक समिति ने जिन श्रेष्ठ कलाकृतियों का चयन किया उनके कलाकारों में इरशाद अहमद (छायाकार), नरगिस परवीन (बांग्लादेश), अमित रंजन वर्मा, अंजलि पांडया, कार्तिक डिंडा, मिंकी दास, मुकेश भानु, नूतन बाला, पुनीत मदन, प्रीति मंडल, रागिनी बारी, संजय जायसवाल, सुचिता त्रिपाठी, सुस्वेता सरकार, स्वाति पालिवाल,राकेश प्रभाकर, धीरेन्द्र प्रताप, दशरथ दास, दिलेनूर फातिमा, इप्शिता चटर्जी, खुशबू सक्सेना और सीता विश्वकर्मा शामिल हैं। इन्हें जल्द ही प्रोत्साहित और पुरस्कृत किया जाएगा। 


रत्नप्रिया कान्त द्वारा क्यूरेट की गई इस  प्रदर्शनी के संयोजकों लायंस क्लब के डॉ. मनोज रुहेला, अवध जिमखाना क्लब के अशोक अग्रवाल,अवध आर्ट फेस्टिवल के अरका प्रधान, खानम आर्ट्स की जाहिदा खानम ने संयुक्त रूप से शुक्रवार को बताया कि कलादीर्घाओं के बंद होने से कलाकारों के समक्ष संकट की स्थिति उत्पन्न हो गई है। महीनो से उनकी कलाकृतियों की प्रदर्शनी आयोजित नहीं हो पा रही है। ऐसे में उनकी कलाकृतियों का प्रदर्शन और विक्रय रुक गया है। यह प्रदर्शनी   www.khanamarts.com  पर चौबीसो घंटे उपलब्ध रही। 

(प्रेस विज्ञप्ति)

Social Connect

Related posts

Leave a Comment