युवा कलाकारों का ‘प्रयोग’

 इलाहाबाद सात प्रदेशों के कलाकारों की प्रदर्शनी
इलाहाबाद स्थित उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र के महात्मा गांधी कला वीथिका में तीन दिवसीय कला प्रदर्शनी ‘प्रयोग’ शुरू हुई। प्रदर्शनी का उद्घाटन इलाहाबाद संग्रहालय के निदेशक सुनील गुप्त ने किया। इस मौके पर कहा गया कि आज कलाकार केवल कारीगर की तरह कार्य नही करना चाहता।  वह निरंतर अपनी कलाकृतियों में नए-नए प्रयोग करता है। अपने विचारों को नित नए नए आधुनिक माध्यमों के द्वारा नए रूप प्रदान कर रहा है। एक दार्शनिक और मनोवैज्ञानिक की भांति कार्य करने का विचार करता है। अपने जीवन दर्शन को निर्धारित करता है। वह केवल परंपरा का सहारा नहीं लेना चाहता।अपितु अपने बुद्धि,विवेक के और अनुसंधान के बल पर कार्य करना चाहता है।इसीलिए आधुनिक कला के नए नए रूप सामने आ रहे हैं।
प्रदर्शनी में सात प्रदेशों-दिल्ली,कोलकाता,उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़,राजस्थान और असम के 48 कलाकारों-अदिति सक्सेना, अच्युतानंद मिश्र, अजित कुमार ,अक्षय सिंह,अम्बरीष मिश्र, अनिल कुर्मी,अंकित सिंह,वैशालिक धारा,भानु श्रीवास्तव, बृज मोहन आर्या, भूपेंद्र कुमार अस्थाना,धर्मेन्द्र कुमार,दिलीप कुमार पटेल,धीरज यादव,फरहान अली,गिरिजा शंकर नेतम,जगजीत रॉय, जलज यादव,जिज्ञाषा मिंज,कौस्तुभ पांडेय,मनीष तामारकर,मोनिका भारती ,डॉ नीता श्रीवास्तव, पूनम नागू, प्रदीप कुमार,प्रशांत पॉल, प्रीति सिंह,प्रियंका शाह,प्रमोद बरुआ,राहुल उसहरा,राजेश सिंह,रंजन सिंह,रंजीता मौर्य, रश्मि सिंह,रवि अग्रहरि, रवि सोनी,रोहित सिंह,साक्षी केसरवानी, सनी केसरी,शुभम वर्मा,सिमरन नुरूला, सुनील काली,सुशील पाल, त्रिभुवन कुमार,वंछा दीक्षित,विवेक जायसवाल,योगल किशोर मंडावी की 55 कलाकृतियों को प्रदर्शित किया गया है। 19 फरवरी तक चलने वाली इस प्रदर्शनी में चित्र,मूर्ति,छापा कला, छाया चित्र, क्राफ्ट आदि माध्यम शामिल हैं।

Social Connect

Leave a Comment